Sunday , 26 May 2019
Breaking News
राष्‍ट्रपति की शरण में जेट कर्मचारी, बकाया सैलरी और इमर्जेंसी फंड देने की लगाई गुहार

राष्‍ट्रपति की शरण में जेट कर्मचारी, बकाया सैलरी और इमर्जेंसी फंड देने की लगाई गुहार

नई दिल्ली. रोजगार संकट का सामना कर रहे जेट एयरवेज के कर्मचारी राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री से गुहार लगाई है. दरअसल में अस्‍थाई तौर पर परिचालन ठप होने के बाद जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने पत्र लिखकर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम नरेंद्र मोदी से 3 महीनें का बकाया सैलरी का भुगतान करने की गुहार लगाई है.

जेट एयरवेज के कर्मचारी का फोटो

जेट ने तीन महीनें से नहीं किया है वेतन का भुगतान

कर्मचारियों ने खत लिखकर बकाया वेतन भुगतान और विमानन कंपनी को इमरजेंसी फंड दिलाने की भी मांग की है. बता दें कि नकदी संकट का सामना कर रही जेट एयरवेज ने अपने करीब 22 हजार कर्मचारियों को वेतन भुगतान नहीं किया है.

जेट एयरवेज के कर्मचारी का फोटो

दो यूनियन ने दिखा है राष्‍ट्रपति और पीएम को पत्र

गौरतलब है कि भविष्य की अनिश्चितता के बीच दो कर्मचारी यूनियन ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है. बता दें कि इस हफ्ते सोसायटी फॉर वेलफेयर ऑफ इंडियन पायलट्स (SWIP) और जेट एयरक्राफ्ट मैंटिनेंस इंजिनियर्स वेलफेयर एसोसिएशन (JAMEWA) ने लेटर लिखकर वेतन का भुगतान कराने की मांग की है.

जेट एयरवेज के प्‍लेन का फाइल फोटो

जेट ने 17 अप्रैल को अस्‍थायी तौर पर परिचालन रोका

उल्‍लेखनीय है कि कई महीनों की अनिश्चतता के बाद जेट एयरवेज ने 17 अप्रैल को अपना परिचालन अस्‍थायी तौर पर रोकने की घोषणा की. बैंकों की ओर से इमर्जेंसी फंडिंग नहीं मिलने के बाद कंपनी ने यह ऐलान किया था. गौरतलब है कि जेट एयरवेज एयरलाइन कंपनी पर करीब 8 हजार करोड़ रुपए का बकाया है, जिसमें बैंकों को 1500 करोड़ रुपए देने थे.

जेट को 400 करोड़ का एमरजेंसी फंड नहीं मिला  

बैंकों ने एयरलाइन को एमरजेंसी फंड के तौर पर 400 करोड़ रुपए नहीं दिए जिसके बाद एयरलाइन रनवे से उतर गई जेट  एयरवेज एयरलाइन. इससे पहले 25 मार्च को जेट के प्रमोटर नरेश गोयल ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया था.


https://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline