Sunday , 26 May 2019
Breaking News
रतलाम से जयस ने उतारा उम्मीदवार, बढ़ सकती है कांग्रेस की मुश्किलें

रतलाम से जयस ने उतारा उम्मीदवार, बढ़ सकती है कांग्रेस की मुश्किलें

रतलाम, 20 अप्रैल (उदयपुर किरण). मध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल क्षेत्र रतलाम से जय आदिवासी युवा संगठन (जयस) ने अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है. पार्टी ने यहां से डॉक्टर अभय ओहरी को चुनाव मैदान में उतार दिया है. बताया जा रहा है कि पार्टी ने यह फैसला कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर लिया है. इसके बाद कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ गई हैं.
मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने इंदौर को छोड़कर 28 सीटों पर अब तक अपने उम्मीदवार घोषित किये हैं जबकि कांग्रेस ने सभी 29 उम्मीदवार घोषित कर दिये हैं. जयस ने कांग्रेस को समर्थन देने की बात कही थी, साथ ही उसने जयस ने अपने चार उम्मीदवारों को टिकट देने की मांग थी लेकिन कांग्रेस ने जयस की मांग को अनदेखा कर दिया. इससे नाराज होकर जयस ने रतलाम से अपने उम्मीदवार को मैदान में उतार दिया है. यहां से पार्टी ने डॉ. अभय ओहरी को टिकट दिया है. जयस खरगोन से डॉ. रक्षा मुजाल्दा, धार से भगवान सिंह और बैतूल से डॉ. रुपेश पद्माकर को उतारने की तैयारी में है.
रतलाम क्षेत्र कांग्रेस का गढ़ रहा है और यहां से मौजूदा सांसद कांतिलाल भूरिया को पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है, जबकि उनके सामने भाजपा ने जीएस डामोर को मैदान में उतारा है. जयस का उम्मीदवार मैदान में आने से कांग्रेस का आदिवासी वोट बैंक खिसक सकता है. इसका कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ सकता है जबकि भाजपा को फायदा होने की संभावना है. जयस के संयोजक हीरालाल अलावा ने बताया कि गत विधानसभा चुनावों में संगठन ने कांग्रेस को समर्थन दिया था. लोकसभा चुनाव में हमारा कांग्रेस को समर्थन है. उन्होंने कांग्रेस से आदिवासी बहुत क्षेत्रों की चार सीटों पर जयस उम्मीदवारों के लिए टिकट की मांग की थी लेकिन कांग्रेस ने हमारी मांग को नजरअंदाज कर दिया. इसीलिए हमने रतलाम से उम्मीदवार उतार दिया है. संगठन तीन अन्य सीटों पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी में है. जल्द ही उनके नामों का भी ऐलान कर दिया जाएगा.
एम्स नई दिल्ली में काम कर चुके डॉ. हीरालाल अलावा जयस के संयोजक हैं और उन्होंने गत विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर मनावर से चुनाव लड़ा था और भाजपा की कद्दावर नेता रंजना बघेल को हराया था. विधानसभा चुनावों में धार, रतलाम, बड़वानी, खरगोन, झाबुआ और अलीराजपुर जिलों की लगभग आठ सीटों पर कांग्रेस को जीत दिलाने में जयस ने अहम भूमिका निभाई थी, क्योंकि ये सभी क्षेत्र आदिवासी बहुत हैं और आदिवासी संगठन होने का लाभ जयस को मिलता है. इन क्षेत्रों में कांग्रेस का बड़ा वोट बैंक आदिवासी माने जाते हैं, लेकिन अब खुद जयस के मैदान में उतरने से इन सीटों पर कांग्रेस को बड़ा नुकसान हो सकता है, जिसका फायदा भाजपा को मिलने की संभावना है.
जयस ने रतलाम-झाबुआ संसदीय क्षेत्र से डॉ. अभय ओहरी को उम्मीदवार घोषित किया है. खरगोन से डॉ. रक्षा मुजाल्दा, धार से भगवान सिंह और बैतूल से डॉ. रुपेश पद्माकर को चुनावी मैदान में उतारने की तैयारी चल रही है. उम्मीद है कि जल्द ही इनके नामों का औपचारिक ऐलान कर दिया जाएगा.


https://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline