Sunday , 26 May 2019
Breaking News
घुसपैठ और तुष्टिकरण को प्रश्रय दे रही ममता सरकार: नरेन्द्र मोदी

घुसपैठ और तुष्टिकरण को प्रश्रय दे रही ममता सरकार: नरेन्द्र मोदी

प्रधानमंत्री ने दक्षिण दिनाजपुर के बुनियादपुर में कहा, मुख्यमंत्री देती हैं रंगदारी और हफ्ता वसूली को प्राथमिकता

कोलकाता, 20 अप्रैल (उदयपुर किरण). आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चुनाव प्रचार की कमान संभाल रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को दक्षिण दिनाजपुर के बुनियादपुर की जनसभा में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार तुष्टिकरण और घुसपैठ को बढ़ावा देती है. ममता बनर्जी ने केवल रंगदारी और हफ्ता वसूली को प्राथमिकता दी है. विकास पीछे हो गया है और बंगाल में घुसपैठ तस्करी और अल्पसंख्यक तुष्टिकरण को ममता ने अपनी शासन नीति बना ली है.

दूसरे चरण के मतदान के दौरान व्यापक हिंसा का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं मीडिया में देख रहा था कि कैसे सामान्य लोगों ने, महिलाओं ने टीएमसी के गुंडों को सबक सिखाया. उनकी लाख कोशिशों के बावजूद, धमकियों के बावजूद, भारी संख्या में किसान, मजदूर, व्यापारी, कर्मचारी, बहनें और युवा साथी वोट देने निकल रहे हैं. इस बार वाकई पश्चिम बंगाल के लोगों ने ठान लिया है. स्पीड ब्रेकर दीदी को अब समझ आ जाएगा कि जनता के साथ गुंडागर्दी करने का, उनके पैसे लूटने का, उनका विकास रोकने का नतीजा क्या होता है. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘बंगाल में पहले और दूसरे चरण में मतदान की जो रिपोर्ट आई हैं, उसने स्पीड ब्रेकर दीदी की नींद पर भी ब्रेक लगा दिया है, उनकी नींद उड़ी हुई है. इसी बौखलाहट में किस तरह के जघन्य अपराध हो रहे हैं, वो भी देश देख रहा है. पुरुलिया में हमारे एक और कार्यकर्ता की हत्या की गई है.’ मोदी ने कहा, पहले गरीबों के पसीने की कमाई नारदा, सारदा और रोजवैली ने लूट ली और फिर दीदी ने घोटालेबाजों को ही सांसद और मंत्री बना दिया. इतना ही नहीं भ्रष्टाचारियों के लिए वो धरने पर बैठ गईं.

प्रधानमंत्री ने कहा, ममता दीदी ने जो पश्चिम बंगाल में किया है, उसके लिए उन्हें न इस धरती का महान इतिहास माफ करेगा और न ही भविष्य. आप लोगों ने ममता दीदी पर बहुत विश्वास किया था, लेकिन उन्होंने आपके मां-माटी-मानुष के नाम पर सिर्फ धोखा दिया. आपका ये चौकीदार गरीब की पाई-पाई का हिसाब लेगा. मोदी ने कहा, अब टीएमसी के जगाई-मथाई जितनी ताकत लगा लें, इंसाफ होने से नहीं रोक पाएंगे. चिटफंड घोटाले के एक-एक आरोपी को गरीब के आंसुओं का हिसाब देना ही पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि दीदी के पास गुंडों को देने के लिए पैसा है, लेकिन कर्मचारियों को डीए देने के पैसे नहीं हैं. ममता बनर्जी के साथ उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी पर भी हमला बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, जिस तरह बुआ-भतीजा मिलकर पश्चिम बंगाल की संस्कृति को, यहां की पहचान को, यहां के लोगों को बदनाम कर रहे हैं, वो शर्मनाक है. ममता बनर्जी पर तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल में पूजा तक करना मुश्किल होता है, यात्राएं तक निकालना मुश्किल होता है. जहां तुष्टिकरण के लिए दूसरे देशों के लोगों को बुलाकर चुनाव प्रचार करवाया जाता हो. अपनी तिजोरी भरने के लिए, अपने वोट बैंक के लिए, तुष्टिकरण के लिए दीदी किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं. हद देखिए, कहती हैं कि पश्चिम बंगाल का ये मॉडल वो पूरे देश में लागू करना चाहती हैं. जहां टोलाबाजी टैक्स के बगैर जीवन नहीं चलता. जहां गरीबों को गरीब रखने का षडयंत्र होता है. जहां गरीब की कमाई को टीएमसी के नेता लूट लेते हैं.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, देश को ऐसा विकास का मॉडल चाहिए जहां आतंकवाद की दहशत न हो. आतंकवादियों के मन में डर पैदा हो. बर्दवान ब्लास्ट का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जन लोगों ने उस मामले की जांच प्रक्रिया को बाधित करने की कोशिश की, वो लोग आतंक का मुकाबला क्या कर पाएंगे. एयर स्ट्राइक का सबूत मांगने को लेकर ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए मोदी ने कहा कि सबूत ही खोजने है तो चिटफंड के घोटालेबाजों के सबूत खोजो. प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल में सिर्फ एक ही काम तेजी से होता है. वह है घुसपैठ और तस्करी.

उन्होंने नागरिकता संशोधन विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि मां भारती में आस्था रखने वाले जो लोग बंटवारे के कारण दूसरे देशों में चले गए थे, आज जब वहां उनके साथ उनकी आस्था की वजह से अत्याचार हो रहा है तो वो कहां जाएंगे? उन्हें नर्क की जिंदगी से निकालना हमारा कर्तव्य है. अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, गरीबों को अपने पक्के घर दिए जा रहे हैं. हर जाति, हर पंथ के लोग हैं. इस चौकीदार का संकल्प है कि 2022 तक एक भी गरीब झोपड़ी में ना रहे. बेघर ना रहे. सबके पास अपना पक्का घर हो. इस संकल्प के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं. टीएमसी हो, कांग्रेस हो या फिर लेफ्ट फ्रंट, इनको सिर्फ भेदभाव करना आता है. जबकि चौकीदार की सरकार सबका साथ, सबका विकास के मंत्र पर काम कर रही है. उन्होंने महिलाओं और दलितों के लिए काम करने का जिक्र करते हुए कहा, हमारी सरकार की योजनाओं से बड़ी संख्या में दलितों, पिछड़ें, शोषितों-वंचितों का लाभ हो रहा है.

प्रधानमंत्री ने कहा, इतना ही नहीं, हमारी सरकार ने पश्चिम बंगाल के 70 लाख से अधिक किसानों के खाते में सीधी मदद देने की योजना बनाई है. लेकिन यहां की सरकार ने लाभार्थियों की लिस्ट ही नहीं भेजी, क्योंकि इसमें भी तोलाबाजी का स्कोप नहीं है. ये सीधे आपके बैंक खाते में जमा होने हैं. यहां की सरकार को सिर्फ अड़ंगे लगाना ही आता है.


https://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline