Sunday , 26 May 2019
Breaking News
युवा शक्ति के पास मतदान कर राष्ट्र को सशक्त करने का है अधिकार : डॉ. हवा सिंह

युवा शक्ति के पास मतदान कर राष्ट्र को सशक्त करने का है अधिकार : डॉ. हवा सिंह

फतेहाबाद, 20 अप्रैल (उदयपुर किरण). चुनाव लोकतांत्रिक देश के लिए महापर्व की तरह है इसलिए सभी लोगों को मिलकर इसमें भाग लेना चाहिए और मतदान करना चाहिए, इससे देश का लोकतंत्र और मजबूत होगा. यह बात मनोहर मैमोरियल स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मतदान जागरूकता को लेकर शनिवार को आयोजित सेमिनार में राजकीय महिला महाविद्यालय भोड़ियाखेड़ा के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. हवा सिंह ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कही. सेमिनार की अध्यक्षता कॉलेज प्राचार्य डॉ. गुरचरण दास ने करते हुए आए हुए अतिथियों का स्वागत किया और विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे स्वयं अपने मताधिकार का प्रयोग करें और दूसरों को भी मतदान के लिए जागरूक करें. सेमिनार को डॉ. आत्माराम, प्रो. मोहन लाल, डॉ. सुरेन्द्रपाल, डॉ. विकेश सेठी, प्रो. कृष्ण कुमार, प्रो. मोहित, प्रो. सुशील, प्रो. अनिल ने भी संबोधित किया. सेमिनार के दौरान विद्यार्थियों ने मतदान करने का संकल्प लिया.

विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ. हवा सिंह ने कहा कि लोक सभा चुनाव के प्रति सभी को जागरूक होने की आवश्यकता है. देश का भविष्य मतदाताओं के हाथ में है, जिसमें एक-एक मत का काफी महत्व होता है. विशेष रूप से युवा वर्ग में चुनाव के प्रति जागरूकता लाने की जरूरत है. युवा ही देश के भविष्य हैं. युवा अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें तथा दूसरों को भी मतदान करने के लिए प्रेरित करें. उन्होंने कहा कि हमारे देश में युवाओं की संख्या सबसे ज्यादा है, इसलिए युवाओं की लोकतंत्र में भागीदारी ज्यादा होना चाहिए. उन्होंने कहा कि युवा शक्ति के पास राष्ट्र को सशक्त करने का अधिकार है. यह तभी हो सकता है, जब वे अपने मताधिकार का प्रयोग करें. उन्होंने कहा कि युवा स्वयं तो मतदान करें ही, साथ ही नीरज लोगों को भी जगाते हुए वोट डालने के लिए प्रेरित करें.

उन्होंने बताया कि पिछले लोकसभा चुनावों में करीब 60 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था, इस बार इस आंकड़े को बढ़ाना है. वोट के माध्यम से हमें अच्छे नेतृत्व को चुनना है. नेपोलियन का उदाहरण देते हुए डॉ. हवा सिंह ने कहा कि उसने जिस प्रकार सेना का अच्छा नेतृत्व किया, हमें भी स्वच्छ सरकार और अच्छे नेतृत्व को चुनना है. उन्होंने कहा कि कोई भी देश ऐसा नहीं जहां 18 वर्ष के युवा देश की सरकार चुनें, केवल भारत ही ऐसा देश है. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने ऐसा अधिकार दिया था. इंग्लैंड में महिलाओं को वोट डालने का अधिकार 30 वर्ष होने पर मिला. भारत के युवा भाग्यशाली है कि उन्हें 18 वर्ष की आयु में वोट डालने का अधिकार दिया गया. इस अवसर पर कॉलेज के विद्यार्थी और स्टाफ सदस्य भी मौजूद रहे.


https://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline