Monday , 20 May 2019
Breaking News
परिवहन विभाग ने बांसवाड़ा जिले के 384 ट्रकों को किया ब्लॉक

परिवहन विभाग ने बांसवाड़ा जिले के 384 ट्रकों को किया ब्लॉक

उदयपुर, 14 मार्च (उदयपुर किरण). उदयपुर संभाग के बांसवाड़ा जिले में परिवहन विभाग ने गुरुवार को 384 ओवरलोड ट्रकों को ब्लॉक कर दिया. जिला परिवहन अधिकारी अभय मुद्गल ने बताया कि विभागीय निर्देशों पर कार्यवाही करते हुए जिले के 384 ट्रकों को ब्लॉक किया गया है. अब प्रदेश के किसी भी परिवहन विभाग कार्यालय में इन वाहनों के मालिक फिटनेस, ट्रांसफर, परमिट, लोन दर्ज करना, लोन हटाना जैसे कोई भी कार्य नहीं करा सकेंगे. नियमानुसार बांसवाड़ा कार्यालय में चालान कंपाउंड करवा लेने पर इनको स्वीकृति दी जा सकेगी.

मुद्गल ने बताया कि जिले में गुजरने वाले ओवरलोड वाहनों को टोल नाकों पर सेंसर द्वारा स्केन कर लिस्ट तैयार की जाती है जिसे टोल नाका प्रबंधन संबंधित क्षेत्र के परिवहन विभाग को भेज दिया जाता है. इसकी वसूली परिवहन विभाग के अधिकारियों द्वारा की जाती है. टोल नाकों पर वाहन चालक द्वारा ओवरलोड वाहन होने से मना करने पर उसे वे-ब्रिज पर तुलवा कर पुष्टि की जाती है. इसके बाद उसे ओवरलोड वाहन की लिस्ट में शामिल किया जाता है. परिवहन अधिकारी मुद्गल ने बताया कि टोल प्लाजा पर लगे वे-ब्रिज पर अधिक वजन बताने के आधार पर परिवहन विभाग द्वारा ब्लॉक किए गए वाहनों के खाते अब वाहन मालिक छूट के साथ 31 मार्च तक खुलवा सकते हैं. विभाग ने यह छूट पहले 31 जनवरी तक दे रखी थी. इसके बाद इस आदेश को अब 31 मार्च तक लागू कर दिया है

. आदेश के तहत एक कैलेंडर माह में अधिकतम 3 बार तक ओवरलोड संचालित होने पर 18.5 टन तक के सकल भार (6 पहिए) वाले ट्रक का एकमुश्त 6 हजार, 18.5 टन से अधिक सकल भार (6 पहिए से अधिक) को 10 हजार एकमुश्त देने होंगे. एक कैलेंडर माह में 3 बार से अधिक ओवरलोड संचालित होने पर क्रमश: 9 हजार और 15 हजार एकमुश्त देने होंगे. यह छूट 31 दिसंबर 2018 तक दर्ज मामलों में केवल टोल नाकों और खान विभाग के ई-रवन्ना के आधार पर मिलेगी. परिवहन अधिकारी मुद्गल ने बताया कि ब्लॉक किए गए ट्रकों के मालिकों को चालान जमा करवाने में मदद के लिए परिवहन विभाग कार्यालय में हेल्पलाइन स्थापित की है जिसके प्रभारी सहायक प्रोग्रामर चंद्रवीरसिंह को बनाया गया है. इस संबंध में किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए मोबाइल नंबर 7426944545 पर संपर्क किया जा सकता है.


http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline