Thursday , 17 January 2019
Breaking News
चंद घंटों में दबोचे लूट के इरादे से दंपती की गला रेतकर हत्या करने के आरोपित

चंद घंटों में दबोचे लूट के इरादे से दंपती की गला रेतकर हत्या करने के आरोपित

पाली, 14 जनवरी (उदयपुर किरण). जैतारण थाना क्षेत्र के निंबोल कस्बे में रविवार रात एकमंजिला मकान में सो रहे वृद्ध दंपती की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर फरार होने वाले दो आरोपितों को जैतारण पुलिस ने चंद घंटों में ही धर दबोचा. आरोपित मकान की छत पर पहुंचकर सीढिय़ों के रास्ते मकान में घुसे थे तथा वारदात कर फरार हो गए. मृतका की भाभी को इसकी जानकारी मिलने पर दरवाजा तोड़ा गया, तब दोनों के शव खून से लथपथ पड़े मिले. घटना की जानकारी के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई तथा पुलिस अधिकारी पहुंच गए.

पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि जैतारण के निम्बोल में रविवार रात अज्ञात आरोपितों ने वृद्ध दंपति की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी थी. आरोपित मौके से जेवरात व नकदी लूटकर ले गए थे. जैतारण पुलिस ने गंभीरतापूर्वक प्रयास करते हुए घटना में शामिल आरोपित रामस्वरूप पुत्र नाथूराम जाति घांची निवासी निम्बोल व पवन पुत्र रामेश्वर व्यास निवासी निम्बोल को पकडक़र पूछताछ की तो आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. इस पर दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपित रामस्वरूप ने पूछताछ में बताया कि मृतक छोटूराम से उसकी जान-पहचान थी तथा उसके घर पर आना-जाना था. उसे इस बात की जानकारी थी कि छोटूराम के पास नकदी व सोना काफी अच्छी मात्रा में है. उसे लूटने की योजना उसने अपने साथियों के साथ मिलकर बनाई. वारदात का राजफाश करने में जैतारण पुलिस, एफ.एसएल टीम जोधपुर, डॉग स्क्वॉयड जोधपुर, एमओबी पाली व साईबर टीम पाली के साथ जैतारण थानाधिकारी रविन्द्रसिंह, रायपुर थानाधिकारी सवाईसिंह, कालू थानाधिकारी राजदिपेन्द्रसिंह, सैन्दड़ा थानाधिकारी सुरेश, रास थानाधिकारी राजेश कुमार, गंगाप्रसाद, गौतम आचार्य, दिनेश, राजकुमार, सम्पतराम, ओमप्रकाश, पप्पूराम, देवेन्द्र, नीरज शर्मा, दिलीपसिंह, गोविन्द, बीरबल, पप्पूराम, मल्लाराम, रमेश, मोहन सिंह तथा राकेश का योगदान रहा.

यह था मामला

पुलिस के अनुसार छोटूलाल (58 वर्ष) पुत्र पांचाराम दर्जी तथा उसकी पत्नी तारादेवी रविवार रात 7.30 बजे मकान की कुंडी लगाकर सो गए थे. इस बीच रात में मकान की छत से होकर घुसे अज्ञात लोग दोनों की धारदार हथियार से हत्या कर फरार हो गए. इसी दौरान मृतका के चिल्लाने की आवाज सुनकर पड़ोस में रहने वाले उसके भाई दयाराम की पत्नी वहां पहुंची. दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण उसने चिल्लाकर आस-पास के लोगों को जगाया. बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों ने रात में ही दरवाजा तोड़ा तो दोनों के शव खून से लथपथ पड़े मिले. इस बारे में जानकारी मिलने पर समूचा गांव मौके पर पहुंच गया. घटना की सूचना के बाद जैतारण डीएसपी वीरेंद्रसिंह तथा थाना अधिकारी रविंद्रसिंह खींची पुलिस दल के साथ मौके पर पहुंचे व दोनों शव को कब्जे में लेकर आरोपितों की तलाश शुरू की. थानाधिकारी खींची ने बताया कि हत्या लूट के इरादे से की गई है. मृतक के तीन पुत्र मुंबई में रहते हैं. घर पर वृद्ध दंपती ही थे. आरोपितों के सिर पर मानो खून सवार था. उन्होंने धारदार हथियारों से मृतकों के शरीर पर कई वार किए. मौके से चाकू भी बरामद हुआ. घटनास्थल पर कुछ नकद रुपए बिखरे हुए मिले हैं.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*