Sunday , 20 January 2019
Breaking News
गंगरार में चोरों की धमाल, बाइक से लेकर गाजरें भी चुराई

गंगरार में चोरों की धमाल, बाइक से लेकर गाजरें भी चुराई

चित्तौडग़ढ़, 14 जनवरी (उदयपुर किरण). जिले के गंगरार उपखण्ड मुख्यालय पर चोरों ने धमाल मचाई. रविवार रात करीब एक दर्जन स्थानों को निशाना बनाते हुए बाइक से लेकर गाजर तक को नहीं छोड़ा. विभिन्न स्थानों पर वाहनों और सोने-चांदी के आभूषणों पर हाथ साफ कर लिया. कस्बेवासियों का कहना है कि लंबे समय से रात्रि में होने वाली गश्त भी बंद है. चोरों ने हाथ साफ करते हुए दो दिन पूर्व थाने के समीप ही कई स्थानों पर चोरी को अंजाम दिया था. ऐसे में पुलिस की गश्त व्यवस्था को लेकर लोगों में आक्रोश है.

जानकारी के अनुसार गंगरार निवासी प्रहलाद सेन व शंकरलाल सेन, कन्हैयालाल शर्मा, बाबू खां, देवीलाल माली सहित कई लोगों के घरों में घुस कर चोरों ने वारदात को अंजाम दिया है. शंकरलाल सेन केमकान में स्कूटर का लॉक तोड़ कर चुराने का प्रयास किया लेकिन जाग हो जाने से चोर अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाए. इसके बाद समीप स्थित कन्हैयालाल शर्मा के मकान को निशाना बनाते हुए चोरों ने रसोई का सामान चुराया और साथ ही वहां पड़ी ढ़ाई किलो गाजर भी चुरा कर ले गए. मांगीलाल जागेटिया केमकान से दो घडिय़ां, चिल्लर, कीमती सामान और कमरे में रखी रजाई भी चोर ले गए.

वहीं माली मोहल्ला में निवास करने वाले देवीलाल माली के परिवारजन एक सामाजिक कार्यक्रम में भाग लेने गए थे. चोरों ने इस मकान को भी निशाना बनाते हुए सोने की रामनामी, मांदलिया, मंगलसूत्र, चांदी के कड़े, एलसीडी और दस हजार की नकदी चोरों ने उड़ा ली. इधर, लगातार हुई चोरी की घटनाओं की जानकारी मिली तो कई लोग मौके पर एकत्रित हो गए. गंगरार क्षेत्र में हुई चोरी की वारदातों को लेकर पुलिस विभाग की लचर गश्त व्यवस्था पर आमजन में आक्रोश है. लोगों का कहना है कि पूर्व में रात्रिकालीन गश्त की जाती थी, लेकिन यह गश्त बंद है. रात्रि में हुई वारदातों को लेकर जब पुलिस को सूचना देने का प्रयास किया गया तो थाने का फोन भी बंद पाया गया. वहीं गांव में बनी चौकी पर भी ताला लटका रहा. गौरतलब है कि दो दिन भी पूर्व पुलिस स्टेशन के समीप मकानों में से चोरों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया था.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*