Sunday , 20 January 2019
Breaking News
कांग्रेस में प्रभारी मंत्री की पहली बैठक में ही हंगामा, जिलाध्यक्ष हटाने के लगे नारे

कांग्रेस में प्रभारी मंत्री की पहली बैठक में ही हंगामा, जिलाध्यक्ष हटाने के लगे नारे

चित्तौडग़ढ़, 14 जनवरी (उदयपुर किरण). कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश पर आगामी लोकसभा चुनावों में संभावित प्रत्याशियों की दावेदारी को लेकर चित्तौडग़ढ़ के जिला कांग्रेस कार्यालय में रविवार को बैठक आहुत की गई. बैठक में प्रभारी मंत्री बनने के बाद जिले में पहली बार आए प्रभारी मंत्री मदनलाल जाटव की मौजूदगी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जम कर हंगामा किया. इस दौरान जम कर नारेबाजी करते हुए कांग्रेस बचाने व जिलाध्यक्ष को हटाने के लिए नारे लगाए गए. इतना ही नहीं पूर्व विधायक एवं जिलाध्यक्ष को बैठक में बोलने तक नहीं दिया गया. इसके चलते प्रभारी मंत्री को स्वयं को माइक थामना पड़ा. प्रभारी मंत्री के सम्बोधन के बाद बैठक खत्म हो गई.

देश में आने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर राजस्थान में लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया कांग्रेस ने शुरू की है. इसको लेकर चित्तौडग़ढ़ के कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में कांग्रेस के प्रभारी मंत्री भजन लाल जाटव के सामने चित्तौडग़ढ़ जिले के लोकसभा चुनाव लडऩे वाले संभावित दावेदारों ने अपनी दावेदारी प्रस्तुत की. चित्तौडग़ढ़ लोकसभा में चित्तौडग़ढ़, प्रतापगढ़ तथा उदयपुर के ग्रामीण अंचल शामिल है. इन सभी क्षेत्र के प्रतिनिधियों ने अपने दल बल के साथ चित्तौडग़ढ़ के कांग्रेस कार्यालय में संभावित दावेदारों ने दावेदारी प्रस्तुत की. प्रभारी मंत्री बनने के बाद जाटव भी पहली बार चित्तौड़ पहुंचे थे. कांग्रेस कार्यालय में हुई बैठक में भारी गुटबाजी देखने को मिली. बैठक को एआईसीसी सदस्य आनन्दीराम खटीक और पूर्व विधायक प्रकाश चौधरी ने संबोधित किया.

इसके बाद पूर्व विधायक और एआइसीसी सदस्य सुरेन्द्रसिंह जाड़ावत का नाम पुकारा गया. इसके साथ बैठक में मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा खड़ा कर दिया. काफी देर हंगामा चला और कार्यकर्ताओं को शांत नहीं होते देख जाड़ावत खुद ही अपनी सीट पर बैठ गए. बाद में कांग्रेस जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़ भाषण देने उठे जिन्हें भी कार्यकर्ताओ ने बोलने नहीं दिया. इतना ही नहीं जिले की सह प्रभारी वंदना माथुर भी एक भी भाषण नहीं दे पाई और हंगामा चलता रहा. बैठक में कार्यकर्ताओं ने जम कर हंगामा किया. इतना ही नहीं कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस बचाओ जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़ को पद से हटाने की मांग करते हुए मांगीलाल हटाओ कांग्रेस बचाओ के नारे भी लगाए. हंगामा होते देख जाटव खुद ही खड़े हो गए और माइक थाम स्वयं के चले जाने की धमकी दी. इसके बाद मौके पर हंगामा थमा. इसके बाद प्रभारी मंत्री ने दावेदारों से बात की.

बिधूड़ी को लोकसभा मांग

बैठक के दौरान कांग्रेस की गुटबाजी भी साफ देखने को मिली. जहां बेगूं से अभी हाल ही में जीते राजेंद्रसिंह बिधूड़ी ने सांसद टिकट के मांग की. वहीं भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुई भगवती देवी झाला ने भी अपनी दावेदारी प्रस्तुत की. पूर्व प्रधान गोविंदसिंह शक्तावत, पूर्व विधायक प्रकाश चौधरी, कालूराम जाट, आनंद प्रकाश, आजाद पालीवाल भैरुलाल गाडरी, मनोहर जाट, देवीलाल सालवी, अम्बालाल शर्मा सहित कई अन्य नेताओं ने अपनी दावेदारी जिला प्रभारी मंत्री को सौंपी.

हंगामा देख दावेदारों से ही मिले

बैठक को संबोधित करते हुए प्रभारी मंत्री जाटव ने कहा कि राजस्थान में लोकसभा की सभी 25 सीटें जीतने का लक्ष्य कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने रखा है. इसे सभी कार्यकर्ताओं को मिल कर पूरा करना है. इसके बाद मंत्री ने बेगू वह बड़ी सादडी के कार्यकर्ताओं से अलग से फीडबैक लिया. इसमें भी जिलाध्यक्ष धाकड़ के विरोध में जमकर नारेबाजी हुई. इससे नाराज होकर जाटव जिला कांग्रेस कार्यालय से बाहर निकले और कार में बैठ कर सर्किट हाउस पहुंच गए. यहां पर बहुत देर कमरे में बंद रहने के बाद उन्होंने सिर्फ दावेदारी करने वाले कार्यकर्ताओं से ही मिलने का निर्णय किया.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*