Saturday , 17 November 2018
Breaking News
थोड़ा रेस्ट देकर करें वर्कआउट, होगा फायदा

थोड़ा रेस्ट देकर करें वर्कआउट, होगा फायदा

युवाओं में जोश होता है, इसलिए वह जिम में ज्यादा से ज्यादा पसीना बहाते हैं. ऐसे में हम अगर ये कहें कि आप खुद को थोड़ा रेस्ट देकर वर्कआउट करें तो आपको ज्यादा फायदा होगा. क्या आप इस बात पर यकीन करेंगे? जी हां, थोड़ा सा रेस्ट लंबे समय तक आपके लिए अच्छा हो सकता है. ऐसा माना जाता है कि एक जैसी एक्सर्साइज दोबारा करने से पहले 48 घंटे का आराम अच्छा होता है. क्योंकि लगातार एक्सर्साइज या वर्कआउट के बाद दोबारा से रिपेयर होने के लिए मांसपेशियों को 5 दिन का समय लगता है. लिहाजा मसल्स को थोड़ा आराम दें ताकि वे दोबारा स्ट्रॉन्ग बन सकें.

अब हम आराम की बात करते हैं, तो इसका मतलब ये नहीं कि आप एक्सर्साइज पूरी तरह से बंद कर दें. ऐसे में आप अपनी मांसपेशियों अच्छी तरह रिपेयर करने के लिए छोटी-मोटी एक्सर्साइज कर सकते हैं. इस बात का ख्याल रखें कि इस दौरान आप खुद की बॉडी को अनावश्यक तनाव न दें, बल्कि उतनी ही एक्सर्साइज करें, जिससे आपकी मांसपेशियों की टूट-फूट दोबारा से सही हो सके. आप इस दौरान ब्रिस्क वॉक या स्विमिंग कर सकते हैं. इस बात का ख्याल रखें कि वर्कआउट के समय आपको किसी प्रकार की चोट न लगे. आपको जानकर हैरानी होगी कि जब आप अपनी मसल्स को तनाव देना बंद करते हैं, तब आपकी मांसपेशियों से सूक्ष्म आंसू निकलते हैं. यह आंसू आपकी मांसपेशियों के उपचार की एक प्रक्रिया है, जो उन्हें और मजबूत बनाती है.

इसलिए आप जब भी ओवर ट्रेनिंग करते हैं, तब आपकी मांसपेशियों को मजबूत बनने के लिए आराम की जरूरत होती है. लिहाजा वर्कआउट के दौरान भी सावधानी बरतना जरूरी है. अब सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि आपको कैसे पता चलेगा कि कब हमारी मांसपेशियों को आराम की जरूरत है? इसके लिए आपको एक्सर्साइज के बाद जब भी तकलीफ महसूस हो, बाकी दिनों से ज्यादा कमजोरी फील हो तो यह इस बात का सबूत है कि आपको आराम की जरूरत है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*