Saturday , 17 November 2018
Breaking News
आयुष्मान भारत से देश के 10 करोड़ परिवार होंगे लाभान्वित : जेपी नड्डा

आयुष्मान भारत से देश के 10 करोड़ परिवार होंगे लाभान्वित : जेपी नड्डा

रांची, 23 सितम्बर (उदयपुर किरण). केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि आयुष्मान भारत से देश के 10 करोड़ से ज्यादा परिवार लाभान्वित होंगे. उन्होंने कहा कि यह एेतिहासिक योजना हम सबके लिए आने वाली सदी तक याद रहेगी. नड्डा रविवार को राजधानी के प्रभात तारा मैदान में प्रधानमंत्री द्वारा विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत के शुभारम्भ अवसर पर बोल रहे थे.

नड्डा ने कहा कि यह योजना मूलभूत परिवर्तन लायेगी, क्योंकि बुलंद हौसला से प्रधानमंत्री इस योजना को लाये हैं. आज इसकी चर्चा सिर्फ देश में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी हो रही है. लोग इस योजना को दिलचस्पी से देख रहे हैं. उन्होंने कहा कि भारत आज दुनिया में लंबी छलांग लगाकर आगे खड़ा है. इस योजना से करोड़ों लोग इसका लाभ ले सकेंगे. हमें इस कार्यक्रम को जमीनी स्तर पर उतारना है. इसके लिए नेशनल हेल्थ एजेंसी और स्वास्थ्य विभाग मिलकर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत पूरी तरह डिजिटल होगा. सब कैशलेस होगा. प्रधानमंत्री द्वारा लिखित संकल्प पत्र झारखंड में दिया जा रहा है. इलाज के लिए कोई भी जब अस्पताल पहुंचेंगे, तो वे आरोग्य मित्र से संपर्क करेंगे. आरोग्य मित्र उसे पूरी जानकारी देगा. इससे मरीजों के परिजनों को आसानी होगी.

उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत आने वाले परिवारों को एक गोल्डेन कार्ड दिया जायेगा. इस कार्ड के जरिये मरीज भारत के किसी भी अस्पताल में इलाज करा सकते हैं. इसके तहत पांच लाख रुपये तक सालाना मुफ्त इलाज हो सकेगा. इसके तहत अस्पताल में पंजीकृत कराने की भी आवश्यकता नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे. पिछले चार साल में मोदी सरकार ने कई कार्य किये हैं. पिछले चार साल में 98 मेडिकल कालेज खोले गये हैं. झारखंड में भी पांच मेडिकल कालेज खोले जा रहे हैं. इनमें पलामू, दुमका, हमारीबाग सहित अन्य शामिल हैं. हजारीबाग जिले में काम चल रहा हे. जल्द ही प्रधानमंत्री इसका शिलान्यास करेंगे. एक मेडिकल कालेज के लिए 250 करोड़ रुपये दिये गये हैं. उन्होंने कहा कि देश में विभिन्न राज्यों के लिए 21 मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति दी गयी है. वहां भी एम्स के तर्ज पर मरीजों का इलाज होगा. डेढ़ लाख वेलनेस सेंटर बन रहे हैं, जिसमें डायबिटीज, हाइपर टेंशन और कैंसर जैसे इलाज की सुविधा होगी.

Source : http://udaipurkiran.in/hindi/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*