Friday , 18 October 2019
Breaking News

सब्जियों की चमक पर ना जाएं, सही से धोकर नहीं खाने से हो सकती है ये बीमारियां

कहते हैं सब्जियां खाना सेहत के लिए अच्छा होता है. इसके लिए जितनी हो सके उतनी ताजा सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है. ऐसा करने के लिए हम मार्केट में सब्जी वाले से भी भाजी के ताजा होने के बारे में सवाल करते हैं. और फिर उसे घर पर लाकर धोते हैं और उसका इस्तेमाल कर लेते हैं. लेकिन ये ताजी सब्जियां आपके स्वास्थ्य को नुकसान भी पहुंचा सकती है. वो भी सिर्फ एक छोटी सी चूक के कारण. दरअसल, अक्सर हम जल्दबाजी में सब्जी को एक बार धोकर या बिना धोए ही इस्तेमाल में ले आते हैं. लेकिन ऐसा करना आपकी हेल्थ के लिए खतरनाक है. आपको पेट की गंभीर समस्या हो सकती है. इतना ही नहीं आपका इम्यून सिस्टम भी प्रभावित हो सकता है, जिससे आप बार-बार बीमार पड़ सकते हैं.
कीटाणु धोना जरूरी
बाजार से जो सब्जियां आप खरीद कर लाते हैं वह देखने में ही ताजा लगती हैं लेकिन इसमें कीटाणु मौजूद होते हैं. बिना धोए सब्जी का इस्तेमाल करने पर कीटाणु आपके पेट में चले जाएंगे और डाइजेशन को प्रभावित करेगा.
ड्डियों की बीमारी से मिलेगी निजात
डॉक्टरों का तो कहना है कि सब्जियों को अच्छे से धोकर खाने और पकाने से आप हड्डियों से जुड़ी कई बीमारियों से बच सकते हैं.
मिर्गी से बच सकते हैं
मेडिकल एक्सपर्ट के मुताबिक सब्जियों को बिना धोए इस्तेमाल करने से आपको मिर्गी (न्यूरोसिस्ट सरकोसिस ) हो सकती है. डॉक्टरों के मुताबिक न्यूरोसिस्ट सरकोसिस बीमारी सोलियम जीव से होती है. यह सूअर की बीट में पाया जाता है.सोलियम जीव खासतौर पर हरी सब्जियों में अंडे देते हैं जो कि बहुत ज्यादा छोटे होने के कारण दिखाई नहीं देते है.
चमकदार सब्जियों को सही से धोएं
सब्जियों को चमकदार और ताजा दिखाने के लिए उसके ऊपर मोम से कोटिंग की जाती है. अगर सब्जियों को ठीक से नहीं धोया गया तो मोम पेट में पहुंच कर आंतों को बहुत नुकसान पहुंचाता है. यही वजह है कि ज्यादातर लोग डाइजेशन की समस्या से पीड़ित हैं.
फूड प्वाइजनिंग से बच सकते हैं
फूड प्वाइजनिंग आजकल आम बीमारी है. इसकी सबसे बड़ी वजह है कि हम बहुत ज्यादा लापरवाही बरतते हैं. सब्जियों को ना तो ठीक से धोया जाता है और ना ही सही से पकाया जाता है. बेहतर होगा कि फ्रीज में रखने से पहले सब्जियों को अच्छी तरह से धो लें और अलग-अलग सब्जियों को अलग-अलग बैग में रखें. जो सब्जी जल्दी खराब होता है उसका पहले इस्तेमाल करें, जिससे वह दूसरी सब्जियों को नुकसान नहीं पहुंचाए.
सब्जी वाले बैग को रखें साफ
बीमारी से बचना है तो सब्जी वाले बैग को भी साफ रखें. समय-समय पर सब्जी के बैग को धोते रहें और धूप सुखाते रहें. ऐसा करने से क्रॉस कंटामिनेशन का डर दूर हो जाता है. क्रॉस कंटामिनेशन का मतलब जब आप एक ही बैग में वेज और नॉनवेज लाते हैं तो बैक्टीरिया ट्रांसफर होता है. इसलिए हो सके तो हर 6 महीने में सब्जी वाले बैग को बदल दें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*