Sunday , 21 July 2019
Breaking News
शतावरी के चमत्कारी फायदे जो अमृत समान है

शतावरी के चमत्कारी फायदे जो अमृत समान है

आयुर्वेद में ऐसी कई जड़ी-बूटियों का उल्लेख है जिनके फायदे तो अनगिनत हैं लेकिन अभी भी हमारे समाज में वे इतनी प्रचलित नहीं हैं। शतावरी का नाम भी उन्हीं जड़ी-बूटियों में शामिल है। शतावरी के फायदे के बारे में आयुर्वेदिक विशेषज्ञों का मानना है कि यह गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद जड़ी-बूटी है। आधुनिक चिकत्सा विज्ञान में शतावरी के फायदे को देखते हुए इसे सुपर फ़ूड की श्रेणी में रखा गया है।

शतावरी की संरचना बेल के आकर की झाड़ीनुमा होती है। इसकी जड़ों का उपयोग कई रोगों के इलाज में किया जाता है। शतावरी में विटामिन ए, सी, बी6 के अलावा फोलेट, कैल्शियम और जिंक की मात्रा बहुत अधिक होती है।

शतावरी के फायदे :

विशेषज्ञों के अनुसार पोषक तत्वों से भरपूर शतावरी कई तरह के रोगों के इलाज में काम आती है। गठिया और जोड़ों के दर्द दूर करने की यह एक कारगर औषधि मानी जाती है। यहां तक कि कब्ज़ दूर करने से लेकर यौन इच्छा बढ़ाने तक शतावरी के फायदों की सूची काफी लम्बी है। आइये शतावरी के आयुर्वेदिक फायदों पर एक नजर डालते हैं।

नींद ना आने की परेशानी में शतावरी का इस्तेमाल :

इस भागदौड़ भरी तनाव युक्त जिंदगी में कई लोग ठीक से सो नहीं पाते हैं। कुछ लोग तो ऐसे हैं जो सोने की कोशिश भी करते हैं तो घंटों उन्हें नींद नहीं आती है। रात में नींद ना आना भी एक बीमारी है और ऐसा कई दिनों तक होने पर आपको मानसिक रोग हो सकते हैं। आयुर्वेद में शतावरी के गुणों का उल्लेख करते हुए यह बताया गया है कि शतावरी चूर्ण का सेवन अच्छी नींद लाने में मदद करता है।

स्तनों में दूध बढ़ाता है शतावरी :

मां बनने के बाद स्तनों में दूध ना बनना भी एक समस्या है। कई महिलायें कम दूध होने या दूध ना होने की शिकायत करती रहती है। जबकि नवजात शिशुओं के लिए मां का दूध की सर्वोतम आहार माना गया है। विशेषज्ञों के अनुसार शतावरी चूर्ण के सेवन से स्तनों में दूध बढ़ता है साथ ही दूध की पौष्टिकता भी कई गुना बढ़ जाती है। इस लिहाज से देखें तो शतावरी बच्चे और मां दोनों के लिए ही गुणकारी है।

पाचन शक्ति बढ़ाने में मदद :

पाचन शक्ति के कमजोर होने का मतलब है पेट से जुड़ी कई बीमारियों को न्यौता देना। आयुर्वेद में शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पाचन तंत्र के मजबूत होने को सबसे आवश्यक बताया गया है। शतावरी के सेवन से आंतों की कार्य क्षमता बढ़ती है साथ ही यह कब्ज़ को दूर करने में भी मदद करती है। जिसके फलस्वरुप बवासीर जैसी गंभीर रोगों के इलाज में मदद मिलती है।

अगर आप भी अक्सर अपच से परेशान रहते हैं या कब्ज़ के कारण शौच के समय तकलीफ होती है तो नजदीकी चिकित्सक से परामर्श लेकर शतावरी का सेवन शुरू कर दें।

और पढ़े: हाजमा बढ़ाये गोखरू का काढ़ा

शरीर की ताकत बढ़ाती है शतावरी :

अगर आप भी थोड़ी सी भागदौड़ में थक जाते हैं या ज्यादा मेहनत करने में खुद को असमर्थ पाते हैं तो शतावरी आपके लिए एक गुणकारी औषधि है। विशेषज्ञों के अनुसार अगर आप शतावरी को घी में पकाकर इससे शरीर की मालिश करें तो कुछ ही दिनों में आपको यह एहसास होगा कि आपके शरीर की ताकत बढ़ रही है। शारीरिक रुप से कमजोर लोगों को नियमित रूप से शावरी का उपयोग करना चाहिए।

वजन कम करने में मदद करती है शतावरी :

मोटापे या बढ़ते वजन से अगर आप परेशान हैं और घरेलू उपायों की मदद से मोटापे से छुटकारा पाना चाहते हैं तो शतावरी का सेवन करें। शतावरी में जहाँ फैट और कैलोरी की मात्रा कम होती हैं वहीं फाइबर (घुलनशील और अघुलनशील) की मात्रा बहुत अधिक होती है। फाइबर की अधिक मात्रा होने से आपको देर तक भूख नहीं लगती है और आप बेवजह कुछ खाने से बच जाते हैं। इस तरह यह वजन कम करने में मदद करती है।

अब आप शतावरी के फायदे जान चुके हैं फिर भी अगर किसी बीमारी के इलाज में शतावरी का सेवन करना चाहते हैं तो चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही शतावरी का सेवन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News