Thursday , 17 October 2019
Breaking News

ये एक्ट्रेस जिंदा रहने के लिए हर 8 घंटे में खाती थी दवाई…….

नई दिल्ली: मिस वर्ल्ड रह चुकीं सुष्मिता सेन अपनी सेहत का बेहद ख्याल रखती हैं. हाल ही में एक इंटरव्यू में उन्होंने खुलासा किया कि उनकी जिंदगी में एक समय ऐसा भी आया कि जब उन्हें हर आठ घंटे में जिंदा रहने के लिए दवाई लेनी पड़ती थी.

बता दें कि सुष्मिता फिटनेस पर बेहद ध्यान देती हैं. एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि “2014 में मुझे एक गंभीर बीमारी का पता चला. मैंने अपनी बंगाली फिल्म “निर्बाक” की शूटिंग पूरी की थी और मैं बहुत बीमार हो गई थी. हम ये पता नहीं लगा सके कि क्या हुआ था. कई सारे टेस्ट किए गए. बेहोश होने के बाद और अस्पताल ले जाने के बाद, हमें पता चला कि मेरी Adrenal glands ने कोर्टिसोल बनाना बंद कर दिया था.”

उन्होंने कहा कि “मेरी जिंदगी दवाओं पर निर्भर हो गई. इसका मतलब था कि मुझे हाइड्रोकार्टिसोन नामक एक दवा लेनी थी, जो कि एक स्टेरॉयड है. इसे जिंदा रहने के लिए हर आठ घंटे में लेना होता है. क्योंकि मेरा शरीर पहले जैसा नहीं रह गया था.”

उन्होंने आगे बताया कि “स्टेरॉयड के साइड-इफेक्ट दिखाई देने के साथ, अगले दो साल मेरे लिए बेहद दर्दनाक थे. कहने की जरूरत नहीं कि अगले दो साल इतने दर्दनाक थे. मैं जनता की नज़र में थी. मैं एक पूर्व मिस यूनिवर्स थी और मुझे हमेशा सुंदर दिखना था. मेरे बाल गिर रहे थे और मैं देख रही थी. आपको यह समझना होगा कि ये वो स्टेरॉयड नहीं है जिसे आप वर्कआउट करते समय लेते हैं. ये पूरी तरह से अलग हैं.”

उन्होंने आगे बताया कि मैं दो बेटियों की सिंगल मदर हूं. मेरी बच्चियों को मेरी जरुरत थी. जो सबकुछ चल रहा था मैं उससे पागल सी हो रही थी. 2014 से 2016 के मेरे फोटोज में आप देखेंगे मैं बहुत अलग दिखती थी. मेरे लिए ये बहुत मुश्किल था.”

उन्होंने आगे अपनी बीमारी के बारे में बताते हुए कहा कि “मैं इलाज के लिए लंदन और जर्मनी गई. स्टेरॉयड की वजह से साइड इफेक्ट साफ दिख रहे थे. मेरी आखें सूज गई थी. आईसाइट कमजोर हो गई थी. इस समय के दौरान मेरे दिमाग में एक विचार आया कि अगर ये मुझे मारता है, तो लोग कभी नहीं जान पाएंगे कि मैं कौन थी. इन दो सालों में मैंने खुद से वादा किया मैं लडूंगी और मरीज के तौर पर तो बिल्कुल भी नहीं जिऊंगी. मैंने वापस योगा करना शुरू किया.”

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*