Friday , 18 October 2019
Breaking News

नहीं था स्वाइन फ्लू फिर भी किया स्वाइन फ्लू का इलाज, महिला की मौत, अब डॉक्टरों पर मामला दर्ज

उदयपुर। बांसवाड़ा के एक व्‍यक्ति ने कोर्ट में महाराणा भूपाल चिकित्‍सालय के स्वाइन फ्लू वार्ड के नोडल अधिकारी डॉ. राघवेंद्र राय सहित 5 जनाें के खिलाफ कोर्ट में इस्‍तागासा देकर इलाज में बरती गई लापरवाही का मामला दर्ज करने हेतु परिवाद दिया है।

सूत्रों के अनुसार बांसवाड़ा की एक महिला रोगी को स्वाइन फ्लू का रोगी मानकर इलाज करने पर महिला की मौत होने का आरोप लगाते हुए पति ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कोर्ट में इस्तगासा देकर जांच कराने के लिए गुहार लगाई है। शिकायतकर्ता पुष्पा नगर के हेमराज सिंह राठौड़ ने अपने परिवाद में बताया कि उनकी 40 वर्षीय पत्नी संगीता का बीते साल एमजी अस्पताल के फिजिशियन डॉ. देवेश गुप्ता स्वाइन फ्लू के लक्षण मानकर भर्ती कराया।

उदयपुर से सेंपल जांच में पत्नी को स्वाइन फ्लू पॉजेटिव बताया। जिस पर डॉक्टर ने इलाज शुरू किया लेकिन उसकी सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ। बाद में पत्नी को रैफर कर दिया गया। जिस पर वह बीमार पत्नी को उदयपुर के महाराणा भूपाल राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया। जहां जांच पहले तो पत्नी को स्वाइन फ्लू रोगी मानते हुए इलाज जारी रखा लेकिन बाद में रिपोर्ट निगेटिव आने पर स्वाइन फ्लू वार्ड से दूसरे वार्ड में ले जाया गया। 1 सितंबर को पत्नी संगीता की मौत हो गई। हेमराज सिंह का आरोप है कि दोनों ही अस्पतालों में पत्नी के स्वाइन फ्लू पीड़ित नहीं होने के बावजूद गलत इलाज किया गया, जिससे उसकी मौत हो गई। इस संबंध में पहले भी कोतवाली में शिकायत दी थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। हेमराज सिंह ने एमजी अस्पताल के फिजिशियन डॉ. देवेश गुप्ता, महाराणा भूपाल अस्पताल के स्वाइन फ्लू वार्ड के नोडल अधिकारी डॉ. राघवेंद्र राय समेत 5 जनाें के खिलाफ शिकायत दी है।

The post नहीं था स्वाइन फ्लू फिर भी किया स्वाइन फ्लू का इलाज, महिला की मौत, अब डॉक्टरों पर मामला दर्ज appeared first on .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*