Wednesday , 16 October 2019
Breaking News
अखाद्य बर्फ का रंग नीला और खाने वाला सफेद रखना होगा

अखाद्य बर्फ का रंग नीला और खाने वाला सफेद रखना होगा

मंदसौर। बर्फ फैक्टरियों में बिना खाने वाला बर्फ नीला व खाने वाला बर्फ सफेद पारदर्शी रखना होगा। इसमें गड़बड़ी मिली तो संबंधित को 6 माह की सजा व 5 लाख रुपए तक का जुर्माना हाेगा।

खाद्य व औषधीय प्रशासन विभाग ने पिछले दिनों शहर के बर्फ व्यापारियों, फैक्टरी संचालकों को इस बारे में चेताया था। अब निरीक्षण होगा। खाद्य व औषधीय प्रशासन विभाग निरीक्षक कमलेश जमरे ने बताया जो बर्फ खाने योग्य नहीं है और जिनका उपयोग केवल सॉफ्ट ड्रिंक्स, पानी की बोतल या मटका आइसक्रीम आदि को ठंडा करने में ही किया जाता है, उनका रंग नीला होगा। इससे अखाद्य बर्फ को लोग रंग देखकर ही आसानी से पहचान सकेंगे। व्यापारी इस बर्फ का उपयोग गन्ना, फ्रूट ज्यूस व बर्फ गोला आदि में नहीं कर सकेंगे। खाद्य बर्फ पारदर्शी व सफेद दिखेगा।

भारतीय खाद्य संस्था और मानक प्राधिकरण, भारत सरकार ने यह निर्धारित किया है कि ऐसे अखाद्य पदार्थ बर्फ के निर्माण के दौरान उनमें फूड कलर इंडिगो केरामाइन या ब्रिलिएंट ब्लू को 10 पीपीएम तक मिलाना जरूरी है। इससे अखाद्य बर्फ की आमजन को आसानी से पहचान हो सके एवं बर्फ के दुष्प्रभाव को प्रभावी रूप से रोका जा सकेगा। उन्होंने बताया खाद्य बर्फ का निर्माण किए जाने वाले अन्य प्रतिष्ठान में बर्फ के निर्माण में स्वच्छ एवं स्वास्थ्यप्रद परिस्थितियों में केवल स्वच्छ पानी का ही उपयोग किया जा रहा है या नहीं, इसकी जांच करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*