Latest news
Thursday , 23 November 2017

भीण्डर नगरपालिका में फिर घमासान, बिना सरकारी आदेश के पालिका उपाध्यक्ष गिरीश सोनी ने संभाला अध्यक्ष का पदभार

ईओ ने बताया पदभार ग्रहण करना गलत, उपाध्यक्ष सोनी ने राजस्थान नगरपालिका अधिनियम 2009 के नियमों का दिया हवाला

जेपी कच्‍छेर / भीण्डर। भीण्डर नगर पालिका अध्‍यक्ष पद का मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। नगरपालिका भीण्डर में मंगलवार को पालिका उपाध्यक्ष गिरीश सोनी ने अध्यक्ष पद के लिये लगाए जा रहे तमाम कयासों के बीच दोपहर साढे 3 बजे अध्यक्ष का पदभार ग्रहण कर लिया। इसके साथ ही भीण्डर नगरपालिका में सरगर्मिया बढ़ गयी है। पदभार ग्रहण करने से नगरपालिका प्रशासन पूरी तरह बेखबर है। पदभार के समय कोई भी प्रशासनिक अधिकारी मौजूद नहीं था।

वहीं दूसरी और उपाध्यक्ष सोनी ने राजस्थान नगरपालिका अधिनियम, 2009 में लिखे नियम का हवाला दिया जिसमें अध्यक्ष की अनुपस्थिति में उपाध्यक्ष पदभार ग्रहण करने का हकदार होता है। पदभार ग्रहण करने पहुॅचे सोनी के साथ पालिका अध्यक्ष गोवर्धन लाल भोई के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले जनता सेना के 13 बागी पार्षद व 3 कांगे्रस के पार्षद मौजूद रहे। ज्ञातव्य हैं कि गत 26 सितंबर को वल्लभगनर विधायक रणधीरसिंह भीण्डर की जनता सेना के बागी पालिका उपाध्यक्ष गिरीश सोनी समेत 13 जनता सेना के पार्षदों ने 3 कांगे्रस के पार्षदों के साथ मिलकर पालिकाध्यक्ष भोई के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित कर भोई को पद से हटाया तभी से यह पद रिक्त चल रहा था। पदभार ग्रहण करने के बाद सभी पार्षदों ने सोनी को फूल-माला पहनाकर स्वागत कर मिठाईयां बांटी। साथ ही सोनी के घर पर भी बधाईयां देने वालों का तांता लगा रहा।

इस बारे में पालिका के कार्यवाहक ईओ मुबारिक हुसैन मंसुरी ने बताया कि मेरे पास राज्य सरकार का आदेश नहीं है। मैं तो अध्यक्ष पद रिक्त मानता हूॅ। सरकार जिसके भी नाम का आदेश देगी उसको विधिवत् पदभार ग्रहण करवाऊॅगा। और इस बारे में मुझे कोई सूचना नहीं दी गई। बाद में फोन पर कहा कि पार्षद मिलना चाहते है तो मैंने कहा कि कल मिल लेंगे। अगर नियमानुसार पदभार आज ग्रहण किया गया है तो उपाध्यक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव पास होने के दिन ही प्रशासन की मौजूदगी में पदभार ग्रहण क्यों नहीं किया। मैं तो इसे गलत मानता हूॅ।
अध्यक्ष का पदभार ग्रहण करने के बाद सोनी ने कहा कि भीण्डर में विकास के नए आयाम स्थापित किये जाएंगे। पालिका को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना हमारा उद्देश्य रहेगा। हमारी पहली प्राथमिकता स्वच्छता अभियान व अतिक्रमण को हटाना रहेगा। मैं कोई नेता नहीं हूॅ। सभी पार्षद मिलकर भीण्डर का विकास करेंगे। 26 सितंबर को अविश्वास प्रस्ताव पास होने के बाद नियमानुसार उपाध्यक्ष स्वतः ही अध्यक्ष पद का पदभार ग्रहण कर सकता है। आज मुहूर्त सही होने से आज का दिन चुना। गिरीश सोनी ने कहा कि जनता सेना के ही है हम सभी 13 पार्षद।

The post भीण्डर नगरपालिका में फिर घमासान, बिना सरकारी आदेश के पालिका उपाध्यक्ष गिरीश सोनी ने संभाला अध्यक्ष का पदभार appeared first on .

Loading...
error: Content is protected !!