Latest news
Thursday , 23 November 2017

डायबिटीज के दुष्प्रभावों से आंखों को बचाने का संकल्प

अलख नयन संस्थान कैनेडा के चिकित्सकों की मदद से चलाएगा जागरूकता अभियान

उदयपुर । आदिवासी अंचल के लोगों की आंखें स्वस्थ्य और महफूज रहें, उनमें जागरूकता लाकर सही समय पर सटीक उपचार मुहैया करवाया जाए और अंधता निवारण के सपने को हर हाल में पूरा किया जाए। इसी मकसद से अलख नयन मंदिर शहर और कई सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में सघन अभियान चला रहा है। गरीब तबके को नि:शुल्क उपचार के इन अभियानों में विदेशी संस्थाओं से भी तकनीकी व चिकित्सकीय मदद मिल रही है।

इसी क्रम में शुक्रवार को ऑपरेशन आई साइट यूनिर्वल संस्थान कैनेडा के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर ब्रायन फोस्टर, ग्लोबल डायरेक्टर काशीनाथ, मैनेजमेंट टीम से ब्रिटनी डॉन और वाइस चैयरमेन जॉन मास्टर्स ने अलख नयन मंदिर के प्रतापनगर स्थित परिसर में विभिन्न गतिविधियों का अवलोकन किया। वे मरीजों डाक्टरों व ट्रस्ट्री से भी मिले। उन्होंने आस-पास के क्षेत्रों के सर्वे कार्य भी देखे। इस दौरान स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं से बातचीत में सुविधाओं व समस्याओं पर चर्चा हुई जिसमें मुख्य रूप से यह तथ्य उभर कर आया कि आदिवासी अंचल में डायबिटीज जैसी भयावह बीमारी के कारण आंखों में होने वाले नुकसान के प्रति लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है। इसके लिए उन्होंने एक प्रोजेक्ट की परिकल्पना भी तैयार की। चेयरमैन संजय सिंघल, मेडिकल डायरेक्टर डॉ.एल.एस. झाला, मैनेजिंग ट्रस्टी डॉ. लक्ष्मी झाला, एक्जीक्यूटिव ट्रस्टी मीनाक्षी चुंडावत तथा अन्य चिकित्सकों से उपचार की नई उन्नत तकनीकों व उच्च गुणवत्तापूर्ण नेत्र चिकित्सा पद्धतियों के बारे में चर्चा की गई।

उल्लेखनीय है कि अलख नयन मंदिर नैत्र संस्थान दक्षिणी राजस्थान में अंधता निवारण के लिए पिछले दो दशकों से अनवरत कार्य कर रहा है। इसके तहत उदयपुर स्थित दो एडवांस्ड आई केयर सेंटर व झाड़ोल, नाथद्वारा व चित्तौड़ में प्राथमिक नेत्र चिकित्सा केंद्रों तथा ग्रामीण शिविरों के माध्यम से सुदूर क्षेत्रों में नेत्र चिकित्सा उपलब्ध करवा रहा है।

The post डायबिटीज के दुष्प्रभावों से आंखों को बचाने का संकल्प appeared first on .

Loading...
error: Content is protected !!